////

Covid Children: तीसरी लहर की आशंका के बीच बच्चों को मिल सकती है जल्द वैक्सीन

Start

Covid Children: देश में भारी तबाही मचाने के बाद कोरोना वायरस का प्रकोप अब देश में काफी कम हो गया है, लेकिन इसके बावजूद देश अब तीसरी लहर की आशंका से भयभीत है और इस लहर में बच्चों के प्रभावित होने की आशंका के चलते बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है। अब बच्चों की सुरक्षा के लिए एक अच्छी खबर आई है कि देश में बच्चों के लिए जल्द ही कोरोना का सुरक्षा कवच मिल जाएगा। बच्चों के वैक्सीनेसन को जल्द मंजूरी मिलने के आसार है.

इस महीने आ सकता है बच्चों का टीका

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहरे के सबसे ज्यादा शिकार बच्चे हो सकते हैं। ऐसे में चिंतित पैरेंट्स के लिए अच्छी खबर यह है कि देश में जल्द बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो सकती है। केंद्र सरकार ने कहा है कि कोरोना टीका इसी महीने आ सकता है और इसके लिए जायडस कैडिला के टीके को जल्द मंजूरी दी जा सकती है, जिसके परीक्षण 12-18 साल की आयु के बच्चों पर भी हुए हैं। शुक्रवार को नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने प्रेस कांफ्रेंस में इस बात की जानकारी दी।

जायडस कैडिला को मिल सकती है मंजूरी

उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोवैक्सीन के बच्चों पर परीक्षण शुरू हुए हैं, लेकिन उसके पूरे होने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा, क्योंकि परीक्षण प्रतिरोधक क्षमता के होते हैं। जबकि जायडस कैडिला के टीके के परीक्षण बच्चों पर हो चुके हैं। उम्मीद है कि आगामी दो हफ्ते में वह लाइसेंस के लिए आ सकती है। टीके को मंजूरी देते समय इसको बच्चों को देने पर भी फैसला लिया जा सकता है। जायडस कैडिला की वैक्सीन का तीसरे चरण का परीक्षण पूरा हो चुका हैं। इसके परीक्षण में 800-100 बच्चे भी शामिल किए गए हैं., जिनकी उम्र 2-18 साल के बीच है।

बच्चों के लिए है बेहद उपयोगी

कैडिला का टीका तीन खुराक वाला और त्वचा में दिया जाने वाला इंट्राडर्मल टीका है। इस वैक्सीन को इंजेक्शन के माध्यम से नहीं दिया जाता है, बल्कि एक अलग डिवाइस के जरिए चमड़ी में डाला जाता है। इसलिए बच्चों के लिए यह टीका ज्यादा फायदेमंद होगा। अगले चरण में कैडिला इसका परीक्षण 12 साल से छोटे उम्र के बच्चों पर भी करेगा। टीके को केंद्र सरकार के नेशनल बॉयोफॉर्मा मिशन के अंतर्गत सहायता दी गई है।