///

Coronavirus: कोरोना से कराह रहे महाराष्ट्र से आई राहतभरी खबर, संक्रमितों और मृतकों के आंकड़े में आई गिरावट, इस योजना का हुआ असर

Start

Coronavirus: कोरोना की आपदा से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र से अब राहत भरी खबरें आने लगी हैं। सोमवार को कोरोना से कराह रहे महाराष्ट्र से दो अच्छी खबरें आई। पहली, कोरोना संक्रमितों के मामले में गिरावट आई है। दूसरी, इससे होने वाली मौतों की संख्या में भी कमी हुई है। माना जा रहा है कि यह ब्रेक द चेन का असर है, जो सरकार ने लागू की है।

ब्रेक द चेन का हुआ असर

महाराष्ट्र में पिछले कई दिनों से रोजाना 60 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे थे, लेकिन सोमवार को राहत वाली खबर आई कि पिछले 24 घंटों में सिर्फ 48,700 नए मामले दर्ज किए गए। राजधानी मुंबई में भी संक्रमितों की संख्या काफी कम पाई गई है। रविवार को संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा भी काफी कम हुआ है। रविवार को 800 से कुछ ज्यादा रहा। मुंबई में पिछले 24 घंटों में सिर्फ 3,876 नए केस सामने आए हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 48,700 नए मामलों के सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 43,43,727 हो गई है।

सक्रिय मामलों में आई कमी

प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या अब 6,74,770 है, जबकि अभी तक 36,01,796 लोग बीमारी से निजात पाकर घर लौट चुके हैं। राज्य में 524 और लोगों की जान जाने के बाद मृतकों का कुल आंकड़ा बढ़कर 65,284 हो गया है।गौरतलब है कि एक दिन पहले 66,191 नए मामले सामने आए थे, जबकि 832 लोगों की मौत हुई थी। मुंबई में पिछले एक दिन में 3876 नए मामले सामने आने के बाद महानगर में कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 6,31,527 हो गया है। 24 घंटों में 70 लोगों की जान चली गई और 9150 लोग ठीक हुए हैं। वहीं, नागपुर में 5852 नए मरीज मिले हैं, जबकि 89 लोगों की मौत हुई है।

सख्ती से कम हुआ संक्रमण

विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार की सख्ती की वजह से कोरोना के मामलों में कमी आई है। राज्य सरकार ने नाइट कर्फ्यू, मिनी लॉकडाउन और फिर पूर्ण लॉकडाउन वाले ब्रेक द चेन जैसी पाबंदियों को लागू किया। सरकार ‘ब्रेक द चेन’ के तहत पब्लिक और प्राइवेट ट्रासंपोर्ट से सफर की इजाजत नहीं दी है। शादी समारोह में सिर्फ 25 लोग शामिल हो सकते हैं। प्राइवेट और सरकारी दफ्तरों को 15 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति दी है।