//

Coronavirus: कोरोना ने फिर फैलाए पैर, चीन में बिगड़े हालात, जापान में लगा आपातकाल

Start

Coronavirus: विदेश में कोरोना ने फिर से अपना कहर दिखाना शुरू कर दिया है। जापान में जहां प्रधानमंत्री ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राजधानी टोक्यो, समेत कई राज्यों में आपातकाल की घोषणा कर दी है, वहीं चीन में भी हालात बिगड़ने लगे हैं।

कोरोना ने बढ़ाई चिंता

जापान में ओलिंपिक खेलों के बीच कोरोना ने चिंता बढ़ा दी है। देश में रोजाना 10 हजार से अधिक मरीज मिल रहे हैं। इस बीच प्रधानमंत्री योशिहिडे सुगा ने इस जानलेवा वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राजधानी टोक्यो, सैतामा, चिबा, कानागावा, ओसाका और ओकिनावा प्रान्तों में आपातकाल की घोषणा कर दी है।
इस ऐलान के साथ ही पीएम योशिहिडे सुगा ने कहा कि अब से हम युवा पीढ़ी के लोगों को टीके लगाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे और लगभग 40 फीसदी से अधिक जनता को अगस्त के अंतिम सप्ताह तक दूसरी खुराक देने का भी लक्ष्य रखेंगे। पीएम सुगा ने कहा कि डेल्टा वैरिएंट तेज रफ्तार से लोगों को संक्रमित कर रहा है। इसलिए जब तक हमें वैक्सीन का असर दिखाई नहीं देने लगता है, तब तक हमें सावधान रहना है। जापान में ओलिंपिक खेलों के बीच शुक्रवार को 10 हजार 697 नए केस दर्ज किए गए। यह जापान में एक दिन में दर्ज किए गए अब तक के सबसे ज्यादा मामले हैं।

मलेशिया और थाईलैंड में बढ़ा डेल्टा का प्रकोप

कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट का प्रकोप मलेशिया और थाईलैंड में भी बढ़ गया है। शनिवार को तीनों ही जगहों पर रिकॉर्ड संख्या में संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं। इसी तरह मलेशिया में भी कोरोना का केंद्र बना हुआ है। बीते 24 घंटे में 17,786 मामले सामने आए हैं। वहीं थाईलैंड में 18,912 नए मरीज मिले हैं जबकि 178 मरीजों की मौत हो गई है।

क्वालालंपुर में सड़कों पर लोग

मलेशिया में कोरोना महामारी के कारणा हालात खराब होने के विरोध में लोग सड़कों पर उतर गए हैं। लोग काले झंडे और बैनर लेकर सरकार के खिलाफ विरोध जताते हुए कह रहे हैं कि सरकार कोरोना महामारी को रोकने में पूरी तरह नाकाम हो गई है। मलेशिया में संक्रमण के बेकाबू होने का आलम ये है कि मरीजों को अस्पतालों में बेड और दवा तक मिलना मुश्किल हो रहा है, जिसको लेकर लोगों में गुस्सा है।

दुनियाभर में संक्रमण में 80 फीसदी की बढ़ोतरी

चीन में डेल्टा वैरिएंट से जुड़े मामले बढ़ने के कारण हालात खराब होने लगे हैं। चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने बताया कि चीन के पूर्वी शहर नानजिंग में संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने बताया है कि दुनियाभर में संक्रमण के मामले में 80 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। ये भविष्य के लिए खतरे संकेत है, सावधान रहने का वक्त आ गया है।