/

विधानसभा का घेराव करने निकले कांग्रेसियों को पुलिस ने खदेड़ा

भोपाल। विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर भोपाल स्‍थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी, अनुसूचित जाति विभाग की ओर से धरना दिया गया। इस कार्यक्रम को लेकर प्रदेश के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं ने प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ एकजुटता दिखाई और सभा के बाद विधानसभा की ओर कूच किया। हालांकि धरना सभास्थल पर कोरोना गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन हुआ।

बतादें कि धरना सभा के बाद विधानसभा कूच में पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ, कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष और महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नितिन राउत, पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष अर्चना जायसवाल, विधायक आरिफ अकील समेत प्रदेश भर से आए कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल थे। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था। पुलिस ने बैरिकेट्स लगाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का रास्ता रोक दिया। इस दौरान कांग्रेस के नेताओं की पुलिस अधिकारियों से बहस भी हुई। कुछ कांग्रेसी नेताओं को गिरफ्तारी भी हुई।

गौरतलब है कि आदिवासियों के मुद्दे पर सियासत कोई पहली बार नहीं हुई है। जब मध्य प्रदेश सरकार ने आदिवासी दिवस की छुट्टी पर रोक लगाई थी। तब भी कांग्रेस ने इसे बाद में मुद्दा बनाया है।

भोपाल से मृदुभाषी के लिए ताहिर खान की रिपोर्ट ।