///

कांग्रेसियों की रैली बदली हंगामें में, करना पड़ा लाठी चार्ज

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में बुधवार को प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया। कांग्रेस कार्यकर्ता धार्मिक आयोजन की मांग को लेकर राजवाड़ा में इकट्टठा हुए। यहां से कार्यकर्ताओं ने मौन रैली की शक्ल में कलेक्ट्रेट का रुख किया, लेकिन देखते ही देखते कार्यकर्ताओं की भीड़ बढ़ती गई। पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए कलेक्ट्रेट के बाहर बैरिकेटिंग की हुई थी, लेकिन कार्यकर्ता बैरिकेटिंग तोड़कर आगे बढ़ने लगे

देखते ही देखते कार्यकर्ताओं की भीड़ बढ़ती गई

दरअसल, इंदौर में बुधवार का दिन काफी हंगामेदार रहा। यहां कांग्रेस कमेटी द्वारा राजवाड़ा से कलेक्टर कार्यालय तक मौन रैली के रूप में निकाली गई, लेकिन यह मौन रैली कलेक्टर कार्यालय पर ज्ञापन देने से पहले ही उग्र आंदोलन के रूप में परिवर्तित हो गई। इस रैली में कांग्रेसी विधायक कांग्रेस कमेटी सहित यूथ कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए थे। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए कलेक्टर कार्यालय से कुछ कदमों की दूरी पर ही भारी पुलिस बल के साथ बैरिकेड लगाए गए थे। जब कांग्रेसियों को कलेक्टर कार्यालय में प्रवेश नहीं दिया गया तो रैली ने उग्र आंदोलन का रूप ले लिया। सुरक्षा व्यवस्था में लगे पुलिसकर्मियों को वॉटर कैनल सहित लाठीचार्ज तक का भीड़ पर प्रयोग करना पड़ा।

प्रशासन द्वारा जन आशीर्वाद यात्रा की अनुमति दी जा रही है

इस मौके पर प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी का कहना था कि प्रशासन पूरी तरह से सरकार के अधीन काम कर रहा है। प्रशासन द्वारा जन आशीर्वाद यात्रा की अनुमति दी जा रही है लेकिन शादी ब्याह से लेकर अन्य धार्मिक कार्यक्रमों में पर रोंक लगाई गई है।

 कार्यकर्ताओं को खदेड़ने के लिए वॉटर कैनन का प्रयोग करना पड़ा

बैरिकेटिंग तोड़कर जैसे ही कांग्रेस कार्यकर्ता आगे बढ़े, पुलिस ने उन पर हल्का लाठी चार्ज किया, लेकिन इससे स्थिति बिगड़ गई और प्रदर्शन उग्र हो गया। इसके बाद पुलिस को कार्यकर्ताओं को खदेड़ने के लिए वॉटर कैनन का प्रयोग करना पड़ा।