////

शासकीय कार्यक्रम में कन्या पूजन के फैसले पर मचा बवाल

बीजेपी-कांग्रेस में आरोप प्रत्यारोप का दौरा शुरू।

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने एक नई पहल की है। इसके तहत अब कन्या पूजन के साथ शासकीय कार्यक्रमों की शुरुआत की जाएगी। इस निर्देश को लेकर अब भाजपा- कांग्रेस, आमने-सामने आ गए हैं जहां कांग्रेस इसको छलावा बता रही है वहीं भाजपा से भारतीय संस्कृति का नाम दे रही है।

कांग्रेस का सरकार पर निशाना

कांग्रेस प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता के मुताबिक कन्या पूजन के साथ शासकीय कार्य में कार्यक्रमों की शुरुआत करने के निर्देश मध्य प्रदेश की जनता को भावनात्मक रूप से छलने का एक प्रयास है। सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि सरकार कन्याओं पर होने वाले अपराधों को नहीं रोक कर पा रही है। मानव तस्करी नहीं रोक पा रही है। कन्या पर होने वाले अपराध नहीं रोक पा रही है, उन्हें शिक्षा नहीं दे पा रही है अस्पतालों में उनकी निर्दोष मौत नहीं रोक पा रही है। इस असफलता से मुंह चुराने के लिए कन्या पूजन का आडंबर कर वह अपनी कालिख छुपाना चाहती है।

भाजपा का कांग्रेस पर पलटवार

वही चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा है कि कन्याओं का सम्मान करने की इस देश की आदि अनादि काल से संस्कृति है। हमारी सरकार ने फैसला किया है कि किसी भी शासकीय कार्य में पहले कन्या की पूजन होगी। 15 महीने की कमलनाथ की सरकार ने इसे बंद कर दिया था। कमलनाथ जी इटली की संस्कृति लाना चाहते थे। कमलनाथ की सरकार में महिलाओं से जुड़े अनेक अपराध हुए थे।