////

नोएडा मे जबरन वसूली के आरोपी तीनों पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के आदेश

तीनों पुलिसकर्मी अवैध वसूली करते हुए पाए गए थे।

भोपाल। जबरन वसूली के मामले में उत्तर प्रदेश के नोएडा से गिरफ्तार किए गए मध्य प्रदेश पुलिस के दो उपनिरीक्षकों और एक कांस्टेबल को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बर्खास्त करने का आदेश दिया है। इससे पहले इन तीनों को निलंबित कर दिया गया है।

नोएडा में की थी अवैध वसूली

मामले का खुलासा होने के बाद मध्यप्रदेश सायबर पुलिस मुख्यालय भोपाल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ए साई मनोहर ने रविवार को आदेश जारी कर उपनिरीक्षक पंकज साहू, उपनिरीक्षक राशिद परवेज खान एवं कांस्टेबल आसिफ अली को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। सीएम शिवराज सिंह ने संविधान की धारा 311 के तहत सेवा से बर्खास्त करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक अंकित शुक्ला और निरीक्षक हरिओम दीक्षित की इस मामले में संदेहास्पद भूमिका होने पर दोनों अधिकारियों का तबादला करने के साथ उनको पुलिस मुख्यालय में अटैच कर दिया गया है।

सायबर सेल जबलपुर से संबधित है पुलिसकर्मी

आरोप है कि स्टेट सायबर सेल जबलपुर के पंकज साहू, राशिद परवेज खान और कांस्टेबल आसिफ अली जांच के लिए नोएडा गए थे और उन्होंने आईसीआईसीआई बैंक के एक खाते को डिफ्रीज करने तथा अपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध न करने के लिए रिश्वत ली थी। इन तीनों पुलिसकर्मियों सहित पांच लोगों को कथित आपराधिक साजिश और जबरन वसूली के मामले में उत्तर प्रदेश के नोएडा से गिरफ्तार किया गया था।