//

सीएम अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को दिखाई ताकत, कैप्टन के डिनर में शामिल हुए 55 विधायक और 8 सांसद

Start

चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच की तनातनी थमने का नाम नहीं ले रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी ताकत दिखाते हुए चंडीगढ़ में एक कैबिनेट सहयोगी के घर पर रात्रभोज का आयोजन किया। इस दावत में उन्होंने कांग्रेस के करीब 55 विधायकों और आठ सांसदों से मुलाकात की।

कांग्रेस प्रभारी की नसीहत

कांग्रेस के करीब 55 विधायकों और आठ सांसदों से मुलाकात की यह डिनर डिप्लोमैसी इसलिए भी काफी मायने रखती है क्योंकि दिन में ही कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू को सलाहकारों को हटाने की नसीहत दी थी। सिद्धु गुट के चार मंत्री मुख्यमंत्री को बदले जाने की मांग कर रहे हैं। इससे पहले दिन में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में इनमें से तीन मंत्री शामिल नहीं हुए। कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, सुखबिंदर सिंह सरकारिया और सुखजिंदर सिंह रंधावा राज्य मंत्रिपरिषद की डिजिटल बैठक में शामिल नहीं हुए।

सिद्धू गुट की फजीहत

दरअसल राज्य में कांग्रेस के 80 विधायक और आठ सांसद हैं, लेकिन इनमें से 25 विधायक टिकट कटने के डर से बागी हो चुके हैं। ये सभी विधायक नवजोत सिंह सिद्धू गुट के माने जाते हैं। इससे पहले दिन में ही कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू को सलाहकारों को हटाने की नसीहत दी थी। माना जा रहा है कि रावत शुक्रवार को सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर हालात की जानकारी देंगे।