/

प्रधान आरक्षक रणवीर सिंह को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रेसिडेंट मेडल से सम्मानित किया

भोपाल। इंदौर क्राइम ब्रांच में पदस्त प्रधान आरक्षक रणवीर सिंह रघुवंशी को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रेसिडेंट मेडल से सम्मानित किया। अशोकनगर के रहने वाले रणवीर सिंह रघुवंशी पिछले 30 सालों से पुलिस विभाग में उत्कृष्ट सेवा दे रहे है। रणवीर सिंह अगस्त 1991 को बतौर आरक्षक पुलिस विभाग में भर्ती हुए थे।

कई बार अपनी वीरता का परिचय दिया

वर्दी पहनने के बाद आरक्षक रणवीर सिंह रघुवंशी ने कई बार अपनी वीरता का परिचय दिया है। क्राइम ब्रांच में रहते हुए उन्होंने कई बड़े-बड़े आरोपियों का पर्दाफाश किया है। प्रधान आरक्षक रघुवंशी ने टीम के साथ मिलकर यूपी की कुख्यात भदौरिया गैंग के आतंक का खात्मा किया। भदौरिया गैंग ने इंदौर के व्यापारी राजेश जैन का अपहरण कर फिरौती की मांग की थी। उच्च अफसरों ने व्यापारी को बदमाशों के चुंगल से छुड़ाने के लिए एक टीम गठित की। इसमें प्रधान आरक्षक रणबीर सिंह रघुवंशी ने अहम भूमिका निभाते हुए दिल्ली से व्यापारी को गैंग के कब्जे से आजाद कराया। इस पर टीम सहित प्रधान आरक्षक रघुवंशी को विभागीय स्तर पर प्रशांसा भी मिली थी। गौरतलब है कि यूपी की भदौरिया गैंग पर यूपी सरकार ने इनाम घोषित कर रखा था। इसके अलावा प्रधान आरक्षक रघुवंशी के नेतृत्व में मप्र की पारदी गिरोह का पर्दाफाश किया था, गिरोह ने डकैती, चोरी, लूटपाट और हत्या कर लोगों में दहशत फैला रखी थी।

वरिष्ठ अधिकारियों ने दिया महत्वपूर्ण सहयोग

सम्मान मिलने के बाद आरक्षक रणवीर सिंह ने कहा कि मेरे वरिष्ठ अधिकारियों का स्नेह और सहयोग मुझे मिला। सम्मान के बाद मुझे एक नई ऊर्जा मिली है। भविष्य में भी ऐसे काम करते रहूँगा जिससे पुलिस विभाग का नाम ऊँचा हो। बतादें कि मध्य प्रदेश के 69 पुलिस अफसरों को स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रेसिडेंट मेडल से सम्मानित किया है। सीएम ने स्‍वतंत्रता दिवस-2019 और गणतंत्र दिवस-2020 को घोषित 9 पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों को राष्‍ट्रपति के विशिष्‍ट सेवा पदक, 34 अधिकारियों को सराहनीय सेवा पदक और गणतंत्र दिवस-2021 को घोषित सराहनीय पदक में से एक अधिकारी को सराहनीय सेवा पदक देकर सम्‍मानित किया है।