///////

नेशनल महिला क्रिकेटर से नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी

भोपाल. नेशनल महिला क्रिकेटर के साथ शातिर दंपत्ति ने नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया है। आरोपियों ने महिला क्रिकेटर को खेल कोटे से बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा दिया और छह लाख रुपये ठग लिए।

नौकरी नहीं लगने पर क्रिकेटर ने जब अपने रुपये वापस मांगे तो उन्होंने इंकार कर दिया। फिलहाल पूरे मामले में पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर पति को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक अशोक विहार कालोनी निवासी 29 वर्षीय दीपिका शाक्य मप्र क्रिकेट टीम की खिलाड़ी हैं और मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन की सदस्य हैं।

वह वर्ष 2018 से भोजपुर क्लब अरेरा कालोनी में क्रिकेट खेलने जा रही हैं। फरवरी 2018 में उसकी पहचान आशुतोष पुरोहित से हुई थी। बाद में आशुतोष ने अपनी पत्नी निधि पुरोहित से मुलाकात करवाई। दोनों ने युवती से पहचान बढ़ाई और बताया कि उनकी पहचान अधिकारियों और मंत्रियों से है, इसलिए वह स्पोर्ट्स कोटे में उसकी नौकरी बैंक में लगवा सकते हैं।

पुरोहित दंपती के झांसे में आकर खिलाड़ी ने टोकन मनी के रूप में पहले 20 हजार रुपये दे दिए। साथ ही आशुतोष के एमपी नगर स्थित बैंक खाते में पांच लाख रुपये और उसकी पत्नी निधि पुरोहित के खाते में 80 हजार रुपये जमा कराए। रुपये देने के बाद युवती ने मई 2018 में एक कालेज में आयोजित बैंक की परीक्षा भी दी, लेकिन रिजल्ट आने पर पता चला कि उसका चयन नहीं हुआ है। पीड़िता ने पुरोहित दंपती से अपने रुपये वापस मांगे तो उन्होंने इन्कार कर दिया। पुलिस ने पुरोहित दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया।

फिलहाल पुलिस ने आरोपी आशुतोष पुरोहित को गिरफ्तार कर कोर्ट के सामने पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। जबकि निधि को नोटिस तामील कराया गया है। बता दें कि आशुतोष के खिलाफ छोला मंदिर और हबीबगंज में पहले से ठगी और मारपीट के केस दर्ज हैं।

मृदुभाषी के लिए भोपाल से मोहम्मद ताहिर खान की रिपोर्ट