////

Char Dham Yatra: कोरोना का कहर थमने के साथ शुरू हो सकती है चारधाम यात्रा

चार धाम देवस्थानम बोर्ड की बैठक में फैसला किया जाएगा।

Char Dham Yatra: कोरोना की दूसरी लहरी की भीषण तबाही को देखते हुए इस बार उत्तराखंड की चारधाम यात्रा पर रोक लगाई गई थी, लेकिन कोरोवा की रफ्तार की धीमे होने के साथ ही अब इसके फिर से शुरू होने की चर्चा होने लगी है। चारधाम या त्रा को उत्तराखंड के कुछ चुनिंदा जिलों के लिए खोला जा सकता है।

कोरोना की वजह से चारधाम यात्रा पर है रोक

हरिद्वार में हुए कुंभ की शुरूआत के साथ ही इस बात पर सवाल उठने लग गए थे कि यह कुंभ कोविड संक्रमण के लिहाज़ से सुपर स्प्रेडर बन गया है। आनन-फानन में बड़े पैमाने पर लगे हुए कुंभ को समटने की तैयारी शुरू हुआ और संतों ने अपने विशाल और भव्य तंबूओं को उखाड़ना शुरू कर दिया। इसी को ध्यान में रखते हुए चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) पर रोक लगाई गई थी, लेकिन अब कोरोना को काबू में देखते हुए चारधाम यात्रा को फिर से शुरू किया जा सकता है। अधिकारियों का कहना है कि केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री यात्रा को कुछ चुनिंदा जिलों के लिए खोला जा सकता है, जहां पर कोविड के हालात बेहतर हैं।

बोर्ड की बैठक में होगा फैसला

पिछले साल श्रद्धालुओं के लिए इस यात्रा को रोक दिया गया था और ​केवल पुजारियों को पूजा अर्चना संबंधी गतिविधियां कर पाने की अनुमति दी गई थी। चार धाम देवस्थानम बोर्ड के चेयरमैन रविनाथ रमन ने बताया कि महामारी की स्थितियों पर नजर रखी जा रही है और जून के दूसरे सप्ताह में बोर्ड की बैठक के बाद इस संबंध में फैसला किया जाएगा कि यात्रा शुरू की जाए या नहीं। ‘हम जल्दबाज़ी नहीं कर रहे हैं, बल्कि क्या हो सकता है, यह देख रहे हैं। ‘