///

तीसरी लहर को लेकर केंद्र की चेतावनी, आने वाले 100-125 दिन देश के लिए काफी अहम

Start

नई दिल्ली। केंद्र ने कोरोना महामारी पर फिर से देशवासियों को सतर्क रहने को कहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि आने वाले 100-125 दिन काफी अहम रहने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों को कोरोना-संबंधी नियमों का पालन करने का आग्रह किया है। केंद्र ने कहा कि हाल के दिनों में देश में कोरोना के मामले में कमी की दर धीमी हुई है और इसे संभावित तीसरी लहर के आने की चेतावनी के तौर पर लेने की जरूरत है।

सतर्क रहने की दी सलाह

नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की बात इसलिए हो रही है क्योंकि अभी हर्ड इम्युनिटी पर नहीं पहुंचे हैं। बड़ी आबादी को संक्रमण का खतरा बरकरार है। हम संक्रमण के रास्ते हर्ड इम्युनिटी तक नहीं पहुंचना चाहते। केस कम होने की रफ्तार धीमी हो गई है। हालात खराब न हो इसलिए कोविड-संबंधी व्यवहार बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि सौ- सवा सौ दिन बेहद अहम हैं, इसलिए सबको सतर्क रहना होगा और जिम्मेदारी निभानी होगी।

केस में गिरावट की रफ्तार कम हुई

डॉ. वीके पॉल ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मामलों में गिरावट की रफ्तार कम हुई है और यह हमारे लिए खतरे का संकेत है। उन्होंने कहा कि विश्व डब्ल्यूएचओ ने आंकड़ों के आधार पर विश्लेषण किया है और बताया है कि वर्ल्ड तीसरी वेब शुरुआती चरण में है। पॉल ने डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों का हवाला देते हुए बताया कि स्पेन में 64 प्रतिशत केस एक हफ्ते में बढ़े हैं।

अफ्रीका, म्‍यांमार और इंडोनेशिया में आक्‍सीजन की किल्लत

कई देशों में कोरोना महामारी को लेकर हालात काफी चिंताजनक होते जा रहे हैं। इंडोनेशिया और म्‍यांमार में तो आक्‍सीजन की किल्‍लत होने की वजह से हालात और अधिक खराब हो गए हैं। इन दोनों ही जगहों पर आक्‍सीजन का सिलेंडर रिफिल करवाने और इसनको लेने वालों की लंबी लाइनें लगी हैं। अफ्रीका में हाल के कुछ सप्‍ताह में कोरोना से होने वाली मौतें 40 फीसद तक बढ़ गई हैं।