//

डिजाइन परिवर्तन के आधार पर बनेगा बंगाली ब्रिज,इन एक्सपर्ट से लिया जाएगा परामर्श

इंदौर। बंगाली चौराहा स्थित फ्लायओवर ब्रिज की डिजाइन को लेकर सोमवार को भोपाल में वृहद स्तर पर बैठक हुई। इसमें लोक निर्माण विभाग मंत्री गोपाल भार्गव मौजूद थे। जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, विधायक महेंद्र हार्डिया, इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष मधु वर्मा तथा प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नीरज मंडलोई प्रमुख अभियंता लोक निर्माण विभाग अखिलेश अग्रवाल, मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग सेतू संजय पांडे के साथ मुद्दों पर चर्चा की गई। बंगाली चौराहे पर फ्लायओवर ब्रिज निर्माण के बाद यातायात व्यवस्था को सुचारु रूप से चलाने के लिए इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ट्रैफिक इंजीनियरिंग एक्सपर्ट से तकनीकी परामर्श कर प्रस्ताव को संशोधित किया जाएगा। संशोधित प्रस्ताव के अनुसार डिजाइन परिवर्तन एवं ट्रैफिक फ्लो का प्रस्तुतीकरण लोनिवि द्वारा किया जा कर निर्माण की कार्रवाई आगे की जाएगी।

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट से तकनीकी परामर्श लिया जाएगा

लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा, बंगाली चौराहे पर बनने वाले फ्लाई ओवर निर्माण में सुगम यातायात, शहर की सुंदरता और जन-आकांक्षाओं का ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने कहा, फ्लाई ओवर के मूल स्वरूप में परिवर्तन के लिए आईआईटी, दिल्ली या मुंबई के ट्रैफिक इंजीनियरिंग एक्सपर्ट से तकनीकी परामर्श लिया जाएगा।

वाहनों के आवागमन में अवरोध नहीं हो

सिलावट ने कहा, शहरवासियों की यातायात सुविधा और शहर सौंदर्यीकरण को बनाए रखने के लिए सभी जन-प्रतिनिधि एक राय हैं। उन्होंने कहा कि निर्माणाधीन फ्लाई ओवर से एबी रोड पर यातायात सुगम हो सकेगा। उनका प्रयास है, बंगाली चौराहा जैसे व्यस्ततम चौराहे पर आने-जाने वालों के समय और श्रम की बचत हो। इसके लिए लोक निर्माण विभाग, विशेषज्ञों से सलाह लेकर आवश्यक सुधार और परिवर्तन करेगा। वहीं, सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि निर्माणाधीन फ्लाई ओवर की डिजाइन में इस तरह से परिवर्तन किया जाए, जिससे चारों ओर से आने वाले वाहनों की दृश्यता स्पष्ट दिखे। वाहन के आवागमन में अवरोध नहीं हो।