//

Bengal Election: छठे चरण का मतदान शुरू, कई दिग्गजों का भाग्य EVM में होगा कैद

Start

Bengal Election: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए छठे चरण का मतदान शुरू हो गया है। इस फेस में 43 विधानसभा सीटों पर वोटिंग हो रही है। इस चरण में बंगाल की राजनीति के कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला होना है, जिनमें भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय, तृणमूल की वरिष्ठ नेता चंद्रिमा भट्टाचार्य, प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक-निर्माता राज चक्रवर्ती आदि शामिल है।

कृष्णानगर उत्तर सीट से लड़ रहे हैं मुकुल रॉय

छठे चरण में 43 विधानसभा सीटों पर वोटिंग 7 बजे से शुरू हो गई है। मुकुल रॉय नादिया जिले में कृष्णानगर उत्तर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उनके सामने TMC के अभिनेता कौशानी मुखर्जी और कांग्रेस के सिल्वी साहा हैं। तृणमूल के चंद्रिमा भट्टाचार्य का मुकाबला CPI-M के तन्मय भट्टाचार्य और भाजपा की अर्चना मजूमदार से है। प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक-निर्माता राज चक्रवर्ती बैरकपुर से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। इसी तरह बंगाल के मंत्री मोहम्मद गुलाम रब्बानी भाजपा के गुलाम सरवर और कांग्रेस के मसूद नसीम एहसान को गोलपोखर सीट पर कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

43 विधानसभा सीटों पर हो रही है वोटिंग

छठे चरण में उत्तर दिनाजपुर जिले की सभी 9, नदिया जिले की 17 में से 9 सीटों, उत्तर चौबीस परगना की 33 में से 17 और बर्धमान जिले की 24 में 8 सीटों पर मतदान हो रहा है। आंकड़ों पर नजर डालें तो उत्तर दिनाजपुर जिले में लोकसभा की तीन सीटें दार्जिलिंग, रायगंज और बालुरघाट सीटें आती हैं। तीनों पर वर्तमान में भाजपा के सांसद काबिज हैं। जबकि 9 विधानसभा सीटों में 6 पर तृणमूल, एक पर सीपीएम, एक पर फॉरवर्ड ब्लॉक और एक पर कांग्रेस का विधायक है।

दो चरण और हैं शेष

छठे चरण में, 50.65 लाख महिलाओं सहित 1.03 करोड़ से अधिक मतदाता 14,480 मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। बचे हुए दो चरणों के लिए मतदान 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होगा। मतों की गणना 2 मई को होगी। कोरोना के बढ़ते प्रकोप और हिंसा की वारदात को देखते हुए निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले चरणों में हिंसा को देखते हुए सुरक्षा उपाय सख्त किए गए हैं। इसके लिए आयोग ने ठे चरण में केंद्रीय बलों की कम से कम 1,071 कंपनियों को तैनात करने का फैसला किया है। मतदान प्रक्रिया के दौरान कोविड संबंधी दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा।