/

एक महीने से हड़ताल पर रही आशा कार्यकर्ता काम पर लौटी

भिंड। मध्य प्रदेश में अपनी 6 सूत्रिय माँगों को लेकर आशा ऊषा सहयोग़िनी कार्यकर्ता संगठन के बैनर तले चल रही हड़ताल अब महीने भर के लिए स्थगित कर दी गयी है, स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी के साथ मुलाक़ात के बाद मिले आश्वासन पर यह फ़ैसला लिया गया है। हालाँकि संगठन की प्रदेश अध्यक्ष का कहना है की अगर आश्वासन पूरा होने तक निराकरण नही हुआ तो तीस दिन बाद फिर आंदोलन शुरू होगा जो अब से ज़्यादा उग्र होगा।

दरअसल जून से मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग के लिए काम कर रही आशा ऊषा सहयोगिनी कार्यकर्ता शासकीय कर्मचारी घोषित करने, पुराने पेमेंट क्लीयर करने समेत 6 सूत्रिय माँगों को लेकर हड़ताल पर थी। जिसका असर ग्रामीण क्षेत्रों में देखने को मिला। भोपाल में स्वास्थ्य मंत्री ने आशा ऊषा सहयोगिनी संगठन के पदाधिकारियों और नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर पंकज शुक्ला, डिप्टी डायरेक्टर शैलेश साकल्य के साथ संयुक्त बैठक की। जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वासन दिया कि जल्द उनकी मांगों को पूरा किया जाएगा। आशा ऊषा संगठन की प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मी कौरव ने बताया कि संगठन की ओर से उन्हें तीस दिन का समय दिया गया है इस आह्वान पर फ़िलहाल यह हड़ताल स्थगित कर दी गई है। सरकार को चेतावनी देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि यदि इन तीस दिनों में माँगे पूरी नही हुई तो 31वे दिन से दोबारा आंदोलन शुरू होगा जो पहले से ज़्यादा उग्र होगा।

भिंड से मृदुभाषी के लिए राहुल शर्मा की रिपोर्ट