/

पुलिस पहुंचते ही रेत उत्खनन कर रहे आरोपी हुए फरार, प्रशासन ने जेसीबी की जब्त

बड़वाह। बड़वाह अवैध रेत उत्खनन कर नर्मदा के आँचल को छलनी करने का कार्य बेखौफ होकर जारी है। प्रभारी मंत्री कमल पटेल की सख्त ताकीद के बावजूद नर्मदा के तटों पर जेसीबी मशीनों से रेत का उत्खनन किया जा रहा है।

ऐसा ही एक प्रकरण समीपस्थ नर्मदा तट स्थित रावेरखेड़ी ग्राम में सामने आया है। शनिवार की देर रात्रि ग्रामीणों ने एसडीएम अनुकूल जैन को सूचना दी कि रावेरखेड़ी तट पर पाचला क्षेत्र में जेसीबी से रेत उत्खनन चल रहा है। जैन के निर्देश पर तहसीलदार सुकदेव डावर, कृष्णा पटेल ने बेड़िया पुलिस दल के साथ छापेमारी की और अवैध रेत खनन में लगी जेसीबी मशीन को जब्त किया। इसके साथ ही रेत के अवैध भंडारण को भी जब्त किया।

रात के अंधेरे में जेसीबी द्वारा रेत उत्खनन जारी

उल्लेखनीय है कि प्रशासन की सख्ती के बाद भी रात के अंधेरे में जेसीबी द्वारा रेत उत्खनन जारी है। पुलिस दल और वाहन को देख उत्खनन में लिप्त लोग अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे। लेकिन पुलिस दल ने एक जेसीबी को जब्त किया। इसके बाद जिन स्थानों से रेत निकाली गई है, उन स्थानों की भी नपती कर जब्ती की कार्यवाही की गई है।

रेत उत्खनन के मामले में पकड़ाया था पहले भी युवक

ग्रामीणों ने बताया कि रावेरखेड़ी ग्राम के ही एक व्यक्ति द्वारा उत्खनन का कार्य उसकी जेसीबी मशीन से करवाया जा रहा है। पहले भी यह व्यक्ति रेत उत्खनन के मामले में पकड़ा जा चुका है। ग्रामीणों ने बताया कि यह तो पुलिस की तफ्तीश के बाद ही पता चलेगा कि जेसीबी का मालिक कौन है। ग्रामीणों ने मांग की है कि प्रशासन अवैध रेत उत्खनन कर नर्मदा के पर्यावरण को अपूरणीय क्षति पहुंचाने वाले रेत माफिया पर कठोर कार्यवाही करे।

अवैध रूप से बनाए गए पुल को भी ध्वस्त किया गया है।

एसडीएम अनुकूल जैन ने कहा कि प्रभारी मंत्री कमल पटेल एवं जिला कलेक्टर के निर्देश पर प्रशासन अवैध रेत उत्खनन और परिवहन में लिप्त लोगों के विरुद्ध लगातार कार्यवाही कर रहा है। नर्मदा नदी में अवैध रेत खनन हेतु अवैध रूप से बनाए गए एक पुल को भी ध्वस्त किया गया है।शनिवार की देर रात्रि खबर मिलने पर रावेरखेड़ी में कार्यवाही की गई और एक जेसीबी व रेत भंडारण को जब्त किया गया है।

खनन अधिकारी सावन चौहान ने बताया कि मौके से एक जेसीबी और रेत के भंडारण को जब्त किया गया है। जेसीबी को जब्त कर उसके मालिक का पता लगाया जाएगा। खनन विभाग द्वारा आगे कार्यवाही जारी है।

बड़वाह से मृदुभाषी के लिए विपिन जैन की रिपोर्ट