//

मेराडोना के सपने को मैसी ने किया साकार, 28 साल बाद जीता अर्जेंटीना ने इंटरनेशनल खिताब

Start

नई दिल्ली। अर्जेंटीना ने कोपा अमेरिका 2021 के फाइनल मुकाबले में ब्राजील को हराकर इतिहास रच दिया है। मेसी के शानदार प्रदर्शन पर अर्जेंटीना इंटरनेशनल लेवल पर पहला बड़ा खिताब जीता। अर्जेंटीना ने 1993 के बाद पहली बार कोपा अमेरिका का खिताब जीता है। अर्जेंटीना ने फाइनल में ब्राजील को 1-0 से शिकस्त दी है। अर्जेंटीना के साथ लियोनेल मेसी की यह पहली बड़ी ट्रॉफी है। मैच खत्म होने के बाद मेसी की आंखों में आंसू थे। वह घुटने के बल बैठ गए और हाथों से अपने चेहरे को ढक लिया। इसके बाद टीम के अधिकतर साथी जश्न मनाने के लिए उनकी ओर दौड़े और उन्हें हवा में उछाल दिया।

1933 के बाद जीता कोपा खिताब

पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान मेसी ने ट्रॉफी को चूमा और फिर हवा में उठा दिया। रियो दि जिनेरियो के मराकाना स्टेडियम में मैच का एकमात्र गोल 22वें मिनट में एंजेल डि मारिया ने दागा। रोड्रिगो डि पॉल ने मारिया की तरफ लंबा पास दिया। 33 साल के इस अनुभवी स्ट्राइकर ने लेफ्ट बैक रेना लोडी की खराब डिफेंडिंग का फायदा उठाते हुए गेंद को अपने कब्जे में लिया और गोलकीपर एडरसन को छकाते हुए अर्जेंटीना को बढ़त दिला दी, जो निर्णायक साबित हुई। अर्जेंटीना ने इस तरह 1993 से चले आ रहे खिताब के सूखे को खत्म किया।

ब्राजील को दी मात

टूर्नामेंट में ब्राजील के खिलाफ यह सिर्फ तीसरा गोल था। नेमार ने खूबसूरत ड्रिबल और पास का नजारा पेश करके ब्राजील को बराबरी दिलाने की कोशिश की, लेकिन मेजबान टीम के स्ट्राइकर अर्जेंटीना के गोलकीपर एमिलियानो मार्टिनेज को बामुश्किल परेशान कर पाए। कोच टिटे की ब्राजील टीम ने कोपा अमेरिका के पिछले पांच मुकाबले जीते थे और सभी में गोल दागे थे। मेसी को मलाल रहेगा कि टूर्नामेंट में पिछले मुकाबलों की तरह फाइनल में भी वह प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाए। उन्होंने हालांकि टूर्नामेंट के दौरान चार गोल किए और पांच गोल करने में मदद की। मेसी को 88वें मिनट में गोल करने का शानदार मौका मिला। उन्हें सिर्फ ब्राजील के गोलकीपर को छकाना था, लेकिन एडरसन ने उन्हें रोक दिया।

अर्जेंटीना का 15वां कोपा अमेरिका खिताब है

अर्जेंटीना के कोच लियोन स्केलोनी ने हैरान करते हुए सेमीफाइनल में कोलंबिया को पेनल्टी शूटआउट में हराने वाली टीम की शुरुआती एकादश में पांच बदलाव किए। उन्होंने गोंजेलो मोंटिएल, क्रिस्टियन रोमेरो, मार्कोस एकुना, लिएंड्रो पेरेडेस और डि मारिया को शुरुआत एकादश में नाहुएल मोलिना, निकोलस टेगलियाफिको, गुइडो रोड्रिग्ज और निकोलस गोंजालेज की जगह मौका दिया। यह खिताब अर्जेंटीना के लिए राहत है, जिसने अपना पिछला बड़ा खिताब तब जीता था, जब मेसी सिर्फ छह साल के थे। रियो में अर्जेंटीना का 15वां कोपा अमेरिका खिताब है।

अर्जेंटीना की टीम टूर्नामेंट में अजेय रही और उसने उरूग्वे के रिकॉर्ड की बराबरी की। ब्राजील ने नौ बार यह खिताब जीता है। मेसी ने बार्सीलोना के साथ कई खिताब जीते, लेकिन 2007, 2015 और 2016 में कोपा अमेरिका के फाइनल में पहुंचने के बावजूद उनकी टीम को हर बार हार का सामना करना पड़ा। अब टीम के पास मराकाना स्टेडियम की अच्छी यादें हैं जहां अर्जेंटीना को 2014 विश्व कप के फाइनल में जर्मनी के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी थी।