///

25 करोड़ रुपये दान कर चुके बिग बी ने कहा, ‘मेरे साधन भी अत्यंत सीमित हैं,ईश्वर के आशीर्वाद से सभी काम बनते गए’

Start

Amitabh Bachchan: कोरोना संकट के इस दौर में हर कोई मदद के लिए आगे आ रहा है। बॉलीवुड की हस्तियों से लेकर खेल जगत की नामचीन हस्तियां कोरोनी की दूसरी लहर के खिलाफ जंग में उतर गई है। मकसद एक ही है कोरोना को हराना है। ऐसे में बिग बी अमिताभ बच्चन ने फंड रेजिंग को लेकर अपने दिल की बात अपने ब्लॉग के जरिए कही।

जब भी मैं दे सकता था, दान दिया

कोरोनी की भीषण तबाही के दौर से गुजर रहे देश के लिए अमिताभ ने विदेशों से मशीने मंगवाई है और अस्पतालों को दान की है। कोरोना से पीड़ितों की मदद के लिए जहां कई सेलेब्स ने मदद के लिए फंड रेजिंग का सहारा ले रहे हैं तो अमिताभ इस तरीके को पसंद नहीं करते हैं। उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा कि ‘मैंने दान दिया, जब भी मैं दे सकता था, मेरे साधन भी अत्यंत सीमित हैं। हो सकता है ऐसा दिखता न हो, लेकिन ऐसा है… ईश्वर के आशीर्वाद से सभी काम बनते गए। मैंने कभी भी कैंपेन या डोनेशन्स की मदद से जमा करने की कोशिश नहीं की। किसी से भी फंड के लिए पैसे मांगने में मुझे शर्मिंदगी महसूस होती है… हां ऐसे कुछ इवेंट्स हुए हैं पहले जहां कंट्रीब्यूशन के लिए मैंने आवाज दी लेकिन मैं इसके लिए सहज नहीं रहता हूं। मैंने कुछ इवेंट्स में अपनी आवाज दी, लेकिन कभी किसी से सीधे तौर पर पैसे नहीं मांगे। कभी ऐसा अगर जाने अनजाने हुआ हो तो मैं माफी मांगता हूं।’

मैंने मांगा नहीं, दिया है

अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में लिखा , ‘मैंने इस बार अपने द्वारा किए गए कामों की जानकारी नहीं दी, क्योंकि मुझे तारीफें नहीं चाहिए… लेकिन आप सभी की जानकारी के लिए मैं दिखा रहा हूं कि फंड का इस्तेमाल कहां और कैसे हो रहा है… ये सिर्फ खोखले वादे नहीं हैं।’ ‘ऐसे कई कैंपेन और इवेंट्स देखने को मिले, जहां अच्छे कामों के लिए फंड जमा किया गया है… और मैं इसकी तारीफ भी करता हूं लेकिन पूरी ईमानदारी और पूरे सम्मान के साथ कहना चाहूंगा कि कभी-कभी मैं अकेले जितने पैसे दान करता हूं वो फंडरेजर के अमाउंट से मैच करते हैं, मैंने मांगा नहीं, दिया है।’ गौरतलब है कुछ समय पहले अमिताभ ने अपने ब्लॉग में बताया था कि वो 25 करोड़ रुपये दान कर चुके हैं।