/

Airtel का नया ऑफर, 99 रुपये प्रति माह में शुरू किया सिक्योर इंटरनेट प्लान

कोरोना महामारी के बाद आई महगाई ने देश की आर्थिक स्थिति को काफी हद तक कमजोर कर दिया है। वही इस महगाई में अब एयरटेल अपने ग्राहकों के लिए एक खुशखबरी लेकर आया है। जिसमे अब एयरटेल उपभोक्ता 99 रुपये प्रति माह में सिक्योर इंटरनेट सेवा का लाभ उठा सकते है।

एक्सस्ट्रीम फाइबर ग्राहकों के लिए 99 रुपये के मासिक सब्सक्रिप्शन पर उपलब्ध है।

बता दें कि यूजर्स को ऑनलाइन काम करते हुए साइबर खतरों से दूर रहने में मदद करने के उद्देश्‍य से एयरटेल एक्सस्ट्रीम फाइबर ने मंगलवार को एक बेहद प्रासंगिक ऑनलाइन सेवा सिक्योर इंटरनेट की शुरुआत करने की घोषणा की है, जो मैलवेयर (वायरस सहित), उच्च जोखिम वाली वेबसाइटों और रियल-टाइम एप्‍स को ब्लॉक करता है। यह ऑनलाइन सेवा सभी एयरटेल एक्सस्ट्रीम फाइबर ग्राहकों के लिए 99 रुपये के मासिक सब्सक्रिप्शन पर उपलब्ध है। कंपनी ने कहा कि वह वाई-फाई के माध्यम से एयरटेल एक्सस्ट्रीम फाइबर से जुड़े सभी उपकरणों के लिए एयरटेल के नेटवर्क सुरक्षा तंत्र का लाभ उठाकर वास्तविक समय में इन गतिविधियों को रोक सकती है।

सुरक्षा अब ग्राहकों के लिए एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है।

भारतीय एयरटेल के मुख्य विपणन अधिकारी शाश्वत शर्मा ने एक बयान में कहा कि हम, एयरटेल में, अपने ग्राहकों के लिए नवाचार के माध्यम से बेहतर और सुरक्षित डिजिटल अनुभव बनाने के लिए जुनूनी हैं। काम और बच्चों की पढ़ाई सभी ऑनलाइन हो गई है। शर्मा ने कहा कि ब्रॉडबैंड की गति और विश्वसनीयता के साथ, सुरक्षा अब ग्राहकों के लिए एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है। सुरक्षित इंटरनेट को हमारे ग्राहकों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए सक्रिय करने में आसान और अत्यधिक प्रभावी समाधान है। सीईआरटी-इन द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में वर्ष 2020 के दौरान साइबर हमलों में 300 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई। नॉर्टन साइबर सेफ्टी इनसाइट्स की छठी वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 12 महीनों में लगभग 59 प्रतिशत भारतीय वयस्क साइबर अपराध का शिकार हुए हैं।

सुरक्षा अब ग्राहकों के लिए एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है।

सिक्योर इंटरनेट ग्राहकों की अलग-अलग जरूरतों के लिए रिमोट वर्किंग से लेकर ऑनलाइन कक्षाओं तक कई सुरक्षा मोड प्रदान करता है। इसके चाइल्ड सेफ और स्टडी मोड के साथ, ग्राहक अवांछित, वयस्क/ग्राफिक सामग्री वाली वेबसाइटों और एप्लिकेशन को ब्लॉक कर सकते हैं जो बच्चों के लिए उपयुक्त नहीं हैं। एयरटेल ने बयान में कहा कि जिस तरह से भारत में ग्राहक वर्क फ्रॉम होम, ई-कॉमर्स और मनोरंजन के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर ज्यादा समय व्यतीत कर रहे हैं, उस के साथ ही साइबर खतरों की संभावना बढ़ गई है।