//

कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा, नए कृषि कानून से अमेरिका जैसे होंगे भारत के गांव

कमल पटेल ने कहा, सोए हुए को जगाया जा सकता है सोने का नाटक करने वालो को नहीं।

इंदौर। प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि नए कृषि बिल में किसानों को अब कृषि और उसके उपकरण के अलावा कृषि उत्पादों के उद्योग के लिए ऋण मिलेगा जिसमे उन्हें 40 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।

किसानों को मिलेगें फसलों के बेहतर दाम

कृषि मंत्री कमल पटेल ने नए कृषि बिल का तारीफ करते हुए इसको किसानों के हित में बताया है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से अब तक चंद लोगों के मुट्ठी में अर्थव्यवस्था थी लेकिन अब किसान भी अर्थव्यवस्था बढ़ाने में हिस्सेदार होंगे और पूंजीपतियों के कृषि पर कब्जा होने का भ्रम किसानों के बीच फैलाया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एपीडा का कार्यालय भोपाल में खोला गया है, कल उसका उद्घाटन सीएम करेंगे देश मे पहला क्षेत्रीय कार्यालय है, इसके माध्यम से किसानों के उत्पादों की ग्रेडिंग होगी ताकि फसल बेहतर दाम पर बिक सके।

किसान बनेंगे अब आत्मनिर्भर

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने एक एलपीजी सिलेंडर का कनेक्शन गांव में नहीं दिया था, गांव तक पहुंचने के लिए सड़क तक नहीं बनाई थी, अब जबकि मोदी सरकार किसानों के आत्मनिर्भर बनाने का काम कर रही है तो इन्हें दिक्कत हो रही है। मोदी जी ने किसानो को अपनी फसल एमएसपी पर नही एमआरपी पर बेचने का अधिकार दिया है, किसान अब किसान कच्ची फसल नहीं बल्कि उसके उत्पाद बना कर बेच सकेगा, आलू नहीं अब चिप्स बना कर बेच सकेंगे।

सरकार ने दिया किसानों को फसल बीमा

किसान आंदोलन पर कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि सोए हुए को जगाया जा सकता है सोने का नाटक करने वालो को नहीं, यदि यह बिल किसान विरोधी होता तो सबसे पहले मैं विरोध करता। हम लोग एक नहीं सौ संशोधन करने को तैयार हैं, लेकिन कानून में कमी तो गिनाए।अपील करने के अधिकार पर कहा कि यदि अपील करने के अधिकार रहा तो किसान जीवन भर कोर्ट में ही केस लड़ता रहेगा, अफसर शाही पर भरोसे किसान को छोड़ने के सवाल पर कहा की यह भाजपा की सरकार है कमल पटेल कृषि मंत्री है किसी अधिकारी की किसानों के साथ गलत करने की हिम्मत नहीं है।

कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार ने फसल बीमा नहीं दिया हमने सरकार में आते ही 8437 करोड़ रुपये किसानों को दिया है, इस नए कानून से भारत के गांव अमेरिका जैसे होंगे। अडानी -अम्बानी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि अडानी-अम्बानी कोई छह साल में पैदा नहीं हुए वो नेहरूजी के समय से उद्योगपति है।