//

सेवानिवृत्ति के बाद इस स्कीम में निवेश करें पैसा, बेहतर रिटर्न के साथ 10 साल बाद मिलेगा पूरा पैसा

Start

नई दिल्ली: किसी कर्मचारी को रिटायरमेंट के बाद अपनी जमापूंजी को बेहतर तरीके से निवेश की चिंता होती है। भारत सरकार ने अपने नागरिकों के लिए कई सामाजिक सुरक्षा योजनाएं शुरू की है। ऐसी ही एक स्कीम है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना। आइए जानते हैं इस योजना की विशेषताओं और इससे मिलने वाले फायदे के बारे में।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना

भारत सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों की जरूरतों का ख्याल रखते हुए 4 साल पहले साल 2017 में प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PradhanMantri Vaya Vandana Scheme) की शुरूआत की थी। वृद्धावस्था में वरिष्ठ नागरिकों के लिए उनके जीवनयापन का मुख्य जरिया उनकी पेंशन होती है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) में निवेश पेंशनधारकों के लिए एक बेहत विकल्प है। इस योजना को लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन यानी LIC द्वारा नियंत्रित किया जाता है। इसमें वरिष्ठ नागरिकों को अपने निवेश पर अच्छा ब्याज मिलता है.

मिलता है बेहतर ब्याज

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का लाभ 60 साल से ज्यादा उम्र का हर नागरिक उठा सकता है। इसके तहत यदि 60 साल या उससे अधिक उम्र के व्यक्ति मासिक पेंशन के ऑप्शन का चयन करते हैं। तो उनको 10 सालों तक 7.4 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा और यदि वार्षिक पेंशन का प्लान लेते हैं तो 10 सालों के लिए 7.66 की दर से बेहतर ब्याज मिलेगा।

पैसा मिल जाता है वापस

यह एक बार में निवेश करने वाली योजना है। मतलब इस योजना के तहत पूरा निवेश एक बार में करना होगा। यदि आप हर महीने 1,000 रुपए की पेंशन चाहते हैं तो आपको एक बार में 1,62,162 रुपये का निवेश करना होगा। इस योजना में अधिकतम 15 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकता है औऱ आपको 10 साल तक 9,250 रुपये की मासिक पेंशन प्राप्त होगी। आपकी निवेश की गई रकम 10 साल बाद आपको वापस भी मिल जाएगी।