/////

कांग्रेस नेताओं को प्रदर्शन करना पड़ा भारी, प्रशासन ने की ऐसी कार्रवाई

Start

इंदौर: शहर में पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के समर्थन में सैकड़ों कांग्रेसियों द्वारा किया गया प्रदर्शन अब उन पर भारी पड़ने लगा है। पूरे मामले में शहर की पुलिस ने अब धारा 188 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

कांग्रेस नेताओं पर हुआ केस दर्ज

इंदौर में कांग्रेस कमेटी द्वारा सोमवार को पूर्व विधायक सज्जन सिंह वर्मा संजय शुक्ला शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल विशाल पटेल सहित अन्य कई कांग्रेसी नेताओं द्वारा आईजी कार्यालय पर ज्ञापन देने के बाद यूथ कांग्रेस द्वारा किए जा रहे गीता भवन स्थित प्रदर्शन में शामिल हुए थे। जहां पर यूथ कांग्रेस द्वारा किए जा रहे हाथों में काली पट्टी बांधकर मौन प्रदर्शन के बाद सभी जनप्रतिनिधि और कांग्रेसी नेताओं द्वारा कुछ देर बाद अचानक से मौन प्रदर्शन छोड़ प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला दहन किया गया। जिसके बाद सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची लेकिन जब तक मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया जा चुका था। इसके बाद पुलिस द्वारा वीडियो अन्य साक्ष्यों के आधार पर विधायक सज्जन सिंह वर्मा संजय शुक्ला शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल, यूथ कांग्रेस शहर अध्यक्ष रमीज खान सहित अन्य कई नेताओं के खिलाफ धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई की है।

पूर्व मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया

वहीं सोमवार दोपहर उज्जैन के टावर चौक के पास स्थिति अंबेडकर मूर्ति के पास कांग्रेसियों द्वारा किए गए प्रदर्शन के बाद शाम को कंठाल चौराहे पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला जलाया। 2 दिन पहले कमलनाथ ने अपने उज्जैन प्रवास के दौरान एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस को अब विश्व भारतीय वैरीअंट के नाम से पहचान रहा है, कमलनाथ के इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी में रोष देखा जा रहा है। इसी बयान का विरोध करते हुए भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ का पुतला जलाकर उन्हें चीन का एजेंट बताया और सख्त कार्रवाई की मांग की।