////

PNB घोटाले का आरोपी कैशियर गिरफ्तार, अब ऐसे होगी गबन की वसूली

आरोपी राजकुमार पर 3 करोड़ रुपए से अधिक की राशि के गबन का आरोप है.

उज्जैन। करोड़ों की हेराफेरी करने वाले हेड कैशियर को ईओडब्ल्यू पुलिस ने हिरासत में लिया है। हेड कैशियर पर आरोप है कि उसने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए करोड़ों रुपए की राशि का गबन किया है. मामले को लेकर 3 साल पहले ईओडब्ल्यू में प्रकरण दर्ज हुआ था जिस पर कार्रवाई करते हुए इंदौर से आरोपी को गिरफ्तार किया है। वही ईओडब्ल्यू गबन की राशि को संपत्ति कुर्क करके वसूलने की तैयारी कर रहा है।

फर्जी वाउचर से किया गबन

पंजाब नेशनल बैंक के हेड कैशियर को उज्जैन ईओडब्ल्यू की टीम ने गिरफ्तार किया है। मामला यह है कि आरोपी राजकुमार नरवरिया बड़नगर तहसील शाखा में पदस्थ था। जिसने अपने अधिकारों का दुरुपयोग करते हुए 3 करोड़ से अधिक राशि का गबन किया है। मामले को लेकर 3 साल पहले ईओडब्ल्यू की उज्जैन शाखा को शिकायत मिली थी जिस पर जांच करते हुए यह पाया गया कि आरोपी राजकुमार द्वारा 3 करोड़ से अधिक राशि का गबन किया गया है और फर्जी तरीके से वाउचर तैयार कर गुमराह भी किया है।

संपत्ति कुर्क कर होगी वसूली

प्रकरण पंजीबद्ध होने के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था. वही ईओडब्ल्यू को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि आरोपी इंदौर शहर के महेश नगर के एक मकान में छुपा हुआ है। आरोपी की धरपकड़ को लेकर एक टीम तैयार की गई और उसके बाद महेश नगर स्थित आरोपी के घर पर छापा मारा गया जहां से आरोपी हेड कैशियर राजकुमार नरवरिया को गिरफ्तार किया गया। मामले की जानकारी देते हुए निरीक्षक कल्पना मिश्रा ने बताया कि एफआईआर दर्ज होने की सूचना मिलने पर आरोपी द्वारा धीरे-धीरे करके गबन की राशि को जमा करने की कोशिश की गई। आरोपी द्वारा लगभग 3 करोड़ से अधिक की राशि जमा कर दी गई वही शेष बची राशि के रूप में 40 लाख रुपए का गबन सामने आया है जिसे संपत्ति कुर्क कर वसूला जाएगा।