एक महिला ने आरोप लगाया कि उसको कोरोना का टीक दो बार लगा दिया गया।
///

मोबाइल पर व्यस्त थी नर्स, इतनी बार लगा दिया कोरोना का टीका

कानपुर। सरकार आम लोगों को कोरोना से सुऱक्षा देने के लिए कोरोना टीका लगाने के लिए जोर दे रही है और इस संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ लोगों की कोरोना के टीके तक पहुंच को आसान बना रही है, लेकिन इतने संवेदनशील मामले में भी लोग लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे हैं। कानपुर में एक नर्स ने लापरवाही बरतते हुए एक शख्स को दो बार कोरोना का टीका लगा दिया।

मोबाइल पर बात करते हुए बरती लापरवाही

उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात ज़िले में एक महिला ने आरोप लगाया कि उसको कोरोना का टीक दो बार लगा दिया गया। आरोप है कि उस वक्त नर्स मोबाइल पर बात करने में व्यस्त थी। जब बात आगे बढ़ने लगी तो अधिकारियों ने मामले में हस्तक्षेप किया और महिला को समझा कर घर रवाना कर दिया। वहीं इस मामले में जिले के सीएमओ का कहना है कि नर्स महिला को दोबारा टीका लगाने जा रही थी,लेकिन वह लगा नहीं पाई। हालांकि लापरवाही बरतने पर उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की गई है। उसको काम से हटा दिया गया है और सालाना इंक्रीमेंट रोकने की सिफारिश भी की गई है।

नर्स ने बताई महिला की गलती

दो बार कोरोना वैक्सीन लगाने का मामला कानपुर देहात की मंडौली पीएचसी का है। यहां पर कमलेश देवी नाम की एक महिला को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। महिला से वैक्सीन लगाने वाली नर्स ने वैक्सीन लगाने के बाद यह नहीं कहा था कि वह उठ कर जा सकती है, लिहाज़ा वह वहां पर बैठी रही। कमलेश देवी का आरोप है कि वैक्सीन लगाने वाली नर्स ने मोबाइल पर बात करते हुए उसको दोबारा वैक्सीन लगा दी। जब उन्होंने नर्स से पूछा कि क्या यह टीका एक ही समय में दो बार लगता है क्या। तब वह उन्हें डांटने लगी कि तुम टीका लगवाने के बाद यहां क्यों बैठी थीं? यह तुम्हारी गलती से हुआ है।