//

दिल्ली में 46 साल का रिकॉर्ड टूटा, एय़रपोर्ट पर भी भरा पानी

नई दिल्ली. दिल्ली में शुक्रवार रात शुरू हुई बारिश ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। यहां 46 साल बाद इतनी बारिश हुई है। इस बारिश में सड़कों सहित दिल्ली एयरपोर्ट भी पानी में डूबते हुए नज़र आ है।

मोतीबाग, आरके पुरम सहित दक्षिणी दिल्ली के कई इलाकों में सड़कों पर पानी भर गया है और यहां से आने-जाने वालें लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट परिसर में भी बारिश का पानी भर गया। इसके वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे हैं। एयरपोर्ट परिसर के अलावा रनवे पर भी पानी भर गया है और पार्किंग क्षेत्र में खड़े प्लेन्स के पहिए उसमें डूबे नजर आ रहे हैं।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ने बताया कि एक इंटरनेशनल और 4 घरेलू फ्लाइट्स को जयपुर और अहमदाबाद एयरपोर्ट डायवर्ट कर दिया गया है। दिल्ली पब्लिक वर्क डिपार्टमेंट के अधिकारियों का कहना है कि जिन इलाकों में पानी भरने की समस्या सामने आई है, वहां मशीनों के जरिए पानी निकाला जा रहा है। मौसम विभाग ने दिल्ली में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है।

46 साल पहले 1975 में दिल्ली में 1150 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। जबकि इस मानसून सीजन में यहां अब तक 1100 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है। इससे पहले 2003 में मानसून में 1050 मिमी बारिश हुई थी। और अभी मानसून खत्म नहीं हुआ है, ऐसे में इस साल और ज्यादा बारिश होने की संभावना है। स्काईमेट वेदर के वाइस प्रेसिडेंट ने कहा कि जलवायु परिवर्तन के चलते मानसून पैटर्न में बदलाव हो रहा है। ऐसी बारिश से ग्राउंडवॉटर रिचार्ज नहीं होता और निचले क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति हो जाती है।