//

2 माह पहले नगर निगम ने दिया था नोटिस, 100 करोड़ की जमीन करवाई मुक्त

उज्जैन। उज्जैन के हरीफाटक चौराहा पर लगभग 10 सालों से 250 दुकानदारों में 2 हेक्टेयर जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा था। नगर निगम की टीम ने कार्रवाई करते हुए 6 घंटे में अतिक्रमण को ध्वस्त किया। बता दें कि यह जमीन शहर के मुख्य इलाके में आती है। इसलिए इस जमीन की कीमत 100 करोड़ रुपये बताई जा रही है। ।

हाई कोर्ट में पिटीशन भी दायर की

नगर निगम ने 2 महीने पहले 214 कब्जा धारियों को नोटिस देकर कब्जा हटाने की बात कही थी। लेकिन फिर भी कब्जा नहीं हटाया गया और हाई कोर्ट में पिटीशन भी दायर की। हालांकि यह मामला अभी हाईकोर्ट में लंबित है। फिर भी प्रशासन द्वारा यहां पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई। कब्जा धारी मोहम्मद अकरम ने बताया कि मेरा पिछले 10 वर्षों से यहां टीवी, फ्रिज और अन्य इलेक्ट्रिक सामग्री का गोडाउन है। जिसे आज अचानक हटाने की कार्रवाई की जा रही है। जिससे मेरा 10 लाख का नुकसान संभवत हुआ है।

300 से ज्यादा पुलिसकर्मी का फोर्स यहां तैनात किया गया था

एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी ने बताया कि कई वर्षों से यहां पर 250 लोगों ने अवैध रूप से 2 हेक्टेयर जमीन पर कब्जा कर रखा था। जिन्हें पहले नोटिस दिया गया था। लेकिन इसके बावजूद भी कब्जा धारियों ने यहां से कब्जा नहीं हटाया। जिसके बाद निगम ने कार्रवाई करते हुए अतिक्रमण हटाया। सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी का फोर्स यहां तैनात किया गया था।

उज्जैन से मृदुभाषी के लिए अमृत बैंडवाल की रिपोर्ट