//

15 अगस्त पर भड़काऊ नारेबाजी करने पर 2 आरोपी गिरफ्तार, 24 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

इंदौर। इंदौर में एक बहुमंजिला आवासीय परिसर में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान भड़काऊ नारेबाजी के बाद हिंसक झड़प मामले में दोनों पक्षों के कुल 24 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। साथ ही इनमें से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के मुताबिक झड़प के दौरान पथराव में दो लोग घायल हो गए थे। तेजाजी नगर पुलिस थाने के प्रभारी आरडी कानवा ने सोमवार को बताया कि एक बहुमंजिला आवासीय परिसर में रविवार को स्वतंत्रता दिवस समारोह में तिरंगा फहराए जाने के बाद भड़काऊ नारेबाजी को लेकर हुई झड़प के संबंध में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है ।

पथराव के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है

उन्होंने बताया कि दोनों मामले भारतीय दंड विधान की धारा 147 (बलवा) और अन्य संबद्ध प्रावधानों के तहत दर्ज किए गए हैं । थाना प्रभारी ने बताया, ’पहली प्राथमिकी में 19 आरोपियों के नाम हैं, जबकि दूसरी प्राथमिकी में पांच नामजद आरोपी हैं । घटना के वीडियो फुटेज के आधार पर दोनों पक्षों के अन्य आरोपियों की पहचान की जा रही है.’ कानवा ने बताया कि झड़प के दौरान पथराव के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि तेजाजी नगर क्षेत्र के बहुमंजिला आवासीय परिसर में स्वतंत्रता दिवस समारोह में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के खिलाफ भड़काऊ नारे लगाए जिसकी प्रतिक्रिया में दूसरे पक्ष के लोगों ने नारेबाजी कर रहे व्यक्तियों पर पथराव कर दिया था। इसके बाद दोनों पक्ष भिड़ गए थे. उन्होंने बताया कि झड़प की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस बल तैनात कर हालात पर काबू पाया गया था।

रैली में शामिल लोग कथित रूप से भड़काऊ नारे लगा रहे थे

बता दें कि पिछले साल मध्य प्रदेश के उज्जैन में 25 दिसंबर को बेगम बाग के मुस्लिम-बहुल इलाके में एक दक्षिणपंथी यूथ रैली से झड़प शुरू हुई थी। जानकारी के मुताबिक, रैली उस समय हिंसक हो गई थी जब पत्थरबाजी हुई। रैली में शामिल लोग कथित रूप से भड़काऊ नारे लगा रहे थे । इलाके में पत्थरबाजी की खबरों के बाद स्थानीय प्रशासन ने इलाके में एक घर को ध्वस्त किया था और एक अन्य घर को ‘अवैध ढांचे’ हटाने की मुहिम के तहत क्षतिग्रस्त किया था।

बाइक रैली निकालते हुए नारे लगाए

दरअसल, 25 दिसंबर को उज्जैन में उस समय झड़प हो गई जब भारतीय जनता युवा मोर्चा के करीब 300 कार्यकर्ताओं और 60 बाइकर्स ने बेगम बाग इलाके में एक बाइक रैली निकालते हुए नारे लगाए। लोगों का कहना था कि ये रैली अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने के लिए निकाली गई थी।