//

18 साल की एम्मा राडुकानू ने रचा इतिहास, यूएस ओपन का खिताब जीतने वाली पहली क्वालीफायर

Start

न्यूयार्क। ब्रिटेन की युवा सनसनी एम्मा राडुकानू ने इतिहास रचते हुए यूएस ओपन 2021 का महिला सिंगल्स का खिताब अपने नाम कर लिया है। साथ ही इस बार यूएस ओपन के आयोजकों को एक नई चैम्पियन मिल गई है। राडुकानू ने फ्लशिंग मीडोज में कनाडा की लेलाह फर्नांडीज को सीधे सेटों में 6-4, 6-3 से हराकर खिताब जीता, जिससे राडुकानू ओपन युग में ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाले पहली क्वालीफायर खिलाड़ी बन गई हैं। राडुकानू के लिए यह जीत काफी खास है, क्योंकि अब वे वर्जिनिया वेड के 1977 बाद ग्रैंडस्लेम खिताब अपने नाम करने वाली पहली ब्रिटिश महिला बन गई हैं।

राडुकानू की वर्ल्ड रैंकिंग में बड़ी छलांग

वर्जिनिया ने 1977 में तब विम्बलडन खिताब अपने नाम किया था। खास बात यह है कि इस मैच को देखने के लिए दर्शक दीर्घा में वर्जिनिया वेड भी मौजूद थीं। इस खिताब को अपने नाम करते ही राडुकानू की वर्ल्ड रैंकिंग में बड़ी छलांग देखने को मिलेगी और वे 150 से सीधे 24वें नंबर पर पहुंच जाएंगी। ब्रिटेन की एम्मा ने फ्लशिंग मिडोज पर लगातार 10 मुकाबले जीतकर खिताब अपने नाम किया। उन्होंने क्वालीफायर में तीन और फिर मुख्य ड्रॉ में सात मैच जीते। वे 2014 के बाद पहली महिला खिलाड़ी हैं, जिन्होंने बिना कोई सेट गंवाए अमेरिकी ओपन का खिताब जीता है। अमेरिकी ओपन 1999 के बाद यह पहला मौका था, जब दो किशोरी किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट का फाइनल खेल रही थीं। तब 17 साल की सेरेना और 18 साल की मार्टिना हिंगिस के बीच खिताबी मुकाबला हुआ था। एम्मा और लेला के बीच फाइनल 1968 में शुरू हुए पेशेवर युग में दो महिला गैरवरीय खिलाड़ियों के बीच पहला ग्रैंडस्लैम फाइनल भी था।

22 साल बाद यह कमाल

22 साल में पहली बार ग्रैंडस्लैम का खिताबी मुकाबला दो युवा खिलाड़ियों के बीच खेला गया। इससे पहले 1999 में यूएस ओपन के फाइनल में ही 17 साल की सेरेना विलियम्स स्विट्जरलैंड की 18 साल की मार्टिना हिंगिस को हराकर चैंपियन बनीं थीं।

53 सालों में यूएस ओपन जीतने वाली पहली ब्रिटिश खिलाड़ी

एम्मा पिछले 62 साल में ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली सबसे युवा ब्रिटिश खिलाड़ी हैं। उनसे पहले 1959 में क्रिस्टीन ट्रूमैन 18 साल की उम्र में ही फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचीं थी और चैंपियन बनीं थी। वह 53 वर्षों में यूएस ओपन खिताब जीतने वाली देश की पहली खिलाड़ी हैं। वर्ष 1968 में वर्जीनिया वेड यहां चैंपियन बनीं थी। एम्मा का मैच देखने के लिए 76 वर्षीय वेड स्टेडियम में मौजूद थीं। यही नहीं एम्मा ओपन युग में किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली चौथी ब्रिटिश महिला खिलाड़ी हैं।

रादुकानु ने लगातार 20 सेट जीते

अपने दूसरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट में खेल रही रादुकानु ने वर ओपन में अभी तक अपने सभी 20 सेट जीते हैं। इसमें क्वालिफाइंग दौर के तीन और मुख्य ड्रॉ के छह मैच शामिल हैं। रादुकानु पहली बार किसी भी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंची हैं। इसके अलावा, रादुकानु 2016 में एंजेलिक कर्बर के बाद से एक भी सेट गंवाए बिना वर ओपन के फाइनल में जगह बनाने वाली पहली महिला हैं।

सालीसबरी-राम ने जीता मेंस डबल्स का खिताब

न्यूयॉर्क। जो सालीसबरी और राजीव राम की जोड़ी ने जेमी मरे और ब्रुनो सोरेस की जोड़ी को हराकर अमेरिकी ओपन ग्रैंड स्लैम टेनिस टूर्नामेंट का मेंस डबल्स का खिताब अपने नाम किया। यह इस जोड़ी का दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब है। उन्होंने मरे और सोरेस की जोड़ी पर फाइनल में 3-6, 6-2, 6-2 से जीत दर्ज की। सालीसबरी और राम ने एक साथ खेलते हुए 2020 आॅस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब भी हासिल किया था।