///

रफ्तार पकड़ेगा वैक्सीनेशन, पांच महीने में मिलेंगे 136 करोड़ डोज

Start

नई दिल्ली। देश में वैक्सीनेशन की रफ्तार इस महीने से और तेज हो जाएगी। केंद्र सरकार ने इसकी जानकारी दी है। केंद्र ने बताया कि देश में वैक्सीन बनाने वाली दो बड़ी कंपनियां सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक हर महीने कोविशील्ड और कोवैक्सिन के 4 करोड़ से ज्यादा डोज का प्रोडक्शन करेंगी। ऐसे में देश के लोगों को इसका सीधा फायदा होगा।

कोविशील्ड का बढ़ेगा प्रोडक्शन

एसआईआई ने बताया कि वह कोविशील्ड का प्रोडक्शन अब हर महीने 11 करोड़ से बढ़ाकर 12 करोड़ डोज करने जा रही है। वहीं भारत बायोटेक भी कोवैक्सीन का प्रोडक्शन 2.5 करोड़ से 5.8 करेगी। साल के अंत तक देश में कोरोना की 136 करोड़ डोज उपलब्ध हो जाएंगी। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से यह जानकारी सांसदों को दी गई है। पीएमओ ने कहा कि अगस्त में कोवैक्सीन का वैक्सीन प्रोजेक्शन 2.65 करोड़, कोविशील्ड का 23 करोड़ और महीने में कुल 25.65 करोड़ खुराक का उत्पादन होगा।

कोविशील्ड की होगी 23 करोड़ खुराक

सितंबर में कोवैक्सिन का प्रोजेक्शन 3.15 करोड़ और कोविशील्ड का 23 करोड़ होगा। जो कुल मिलाकर 26.15 करोड़ खुराक होगी। अक्टूबर में कुल 28.25 करोड़ खुराक का उत्पादन किया जाएगा, जिसमें से कोवैक्सिन 5.25 करोड़ और कोविशील्ड की 23 करोड़ खुराक होगी। नवंबर में 28.25 करोड़ डोज उपलब्ध होंगे जिनमें 5.25 करोड़ कोवैक्सिन और 23 करोड़ कोविशील्ड की होंगी। वहीं दिसंबर में कोवैक्सिन का अनुमान 5.25 करोड़ और कोविशील्ड का 23 करोड़ खुराक का होगा, जो कुल मिलाकर महीने के लिए 28.5 करोड़ खुराक होगा। अगस्त से दिसंबर 2021 के लिए केंद्र द्वारा दिए गए एक अग्रिम आदेश के अनुसार, कोविशील्ड वैक्सीन की 75% खुराक 215.25 रुपए प्रति खुराक पर कुल 8,071.87 करोड़ रुपए की लागत से खरीदी जाएगी। इस तरह देश में अगले कुछ महीनों में कोरोना वैक्सीन की 136 डोज उपलब्ध होंगी।

अगले साल मार्च तक आएगी बच्चों की वैक्सीन

सीरम इंस्टीट्यूट के प्रमुख अदार पूनावाला ने शुक्रवार को कहा कि बच्चों के लिए उनकी वैक्सीन कोवोवैक्स अगले साल की पहली तिमाही तक आ जाएगी। वहीं बड़ों के लिए यह वैक्सीन अक्टूबर तक भारत में लांच हो जाएगी। पूनावाला ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि पैसों की कोई कमी नहीं है। हमें मिल रही मदद के लिए हम पीएम मोदी के बहुत आभारी हैं। अदार पूनावाला ने मंत्री मंडाविया से मुलाकात के बाद पत्रकारों से चर्चा में कहा कि सरकार हमारी मदद कर रही है। कोई वित्तीय संकट नहीं है। उम्मीद है कि बड़ों के लिए हमारा कोवोवैक्स इसी साल अक्तूबर तक जा आएगा। कीमत को लेकर उन्होंने कहा कि कोवोक्स की लांचिंग के समय इसकी लागत सबको पता चल जाएगी। उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए वैक्सीन वर्ष 2022 के पहले तीन माहों में आ जाएगी।