/

श्रमजीवी संगठनों की देशव्यापी हड़ताल शुरू

उज्जैन। देशभर में देश भारत केंद्रीय श्रमजीवी संगठनों की देशव्यापी हड़ताल की जा रही है जिसमें देशभर के करीब दो करोड़ लोग हड़ताल में शामिल है उज्जैन में भी दूरसंचार विभाग और एलआईसी के साथ विभिन्न संगठनों द्वारा हड़ताल में समर्थन दिया है वही सरकार की निजी करण और वेतन समझौता का विरोध किया है

देशभर में केंद्रीय श्रमजीवी संगठनों और ऑल इंडिया संगठनों के द्वारा देशव्यापी हड़ताल की गई है जिसमें करीब देशभर के 2 करोड़ लोग हड़ताल पर है उज्जैन के भारत पुरी स्थित एलआईसी कार्यालय पर ऑल इंडिया इंश्योरेंस के आह्वान पर इंश्योरेंस एंप्लाइज यूनियन  के सभी लोग हड़ताल पर दिखाई दिए हाथों में बैनर और तख्तियां लिए प्रदर्शन किया । आंगनवाड़ी कर्मियों से  अन्य विभागीय कार्य बंद करने, श्रम कानून में बदलाव  मंजूर नहीं , वही  एलआईसी  में  आईपीओ  निजीकरण के विरोध  के नारे लगाते हुए  सभी अधिकारी कर्मचारी दिखे । सिटी ट्रेड यूनियन के अध्यक्ष प्रशांत शोले ने बताया कि एलआईसी के आईपीओ और नियमितीकरण के खिलाफ सभी यूनियन है वेतन समझौता 2007 से ड्यू है 1995 की पेंशन स्कीम को लागू किया जाए वही किसान के विरोध में कृषि बिल लाया गया है उसका भी विरोध किया जा रहा है

देशव्यापी हड़ताल में उज्जैन के बीएसएनएल कर्मचारी और अधिकारी ने भी अपनी सहभागिता की देवास गेट स्थित कार्यालय पर सभी कर्मचारी और अधिकारियों ने मिलकर जमकर विरोध किया सभी कर्मचारियों ने सरकार की नियमितीकरण और 4G स्पेक्ट्रम लागू करने कांटेक्ट बेस के कर्मचारियों की छटनी और 13 वर्षों से नया वेतनमान नहीं दिए जाने के विरोध में जमकर नारेबाजी की  सिटी ट्रेड यूनियन के सचिव मनोज शर्मा ने बताया कि राष्ट्रव्यापी श्रमिक संगठनों के आह्वान पर वैश्विक मुद्दों को लेकर हड़ताल की जा रही है सरकार की गलत नीतियों और पूंजीपतियों को आगे बढ़ाने की तमाम नीतियों का विरोध हड़ताल के माध्यम से किया जा रहा है