///

भाई-भाभी और भतीजे को जिंदा जलाने के बाद युवक ने मौत को लगाया गले


अनूपपुर। घर का आपसी विवाद किस हदतक खतनाक हो सकता है यह बात अनूपपुर जिले के ग्राम धनगवां में बुधवार रात को देखने को मिली। यहां एक भाई ने अपने बड़े भाई के परिवार को जिंदा जलाकर खुद को भी मौत के गले लगा लिया।
एक भाई अपने बड़े भाई को हर तरह की परेशानियों में मदद करता लेकिन अनूपपुर के ग्राम धनगवां में कुछ ऐसा मामला सामने आया जिसने हर किसी हैरान कर दिया। मामले सामने आया है कि दीपक नामक युवक ने पारिवारिक विवाद के कारण बुधवार रात करीब 1ः30 से 2 के बीच अपने ही सगे भाई-भाभी और दो बच्चों को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया और उसके बाद वह खुद भी फांसी के फंदे पर झूल कर खुदकुशी कर ली है। घटना में बताया जा रहा है कि आरोपी मृतक दीपक विश्वकर्मा का अपने भाई से विवाद था, आए दिन हो रहे झगड़ो से वह मानसिक रूप से काफी परेशान हो गया था, इसी के चलते बुधवार रात आसपास जब उसका भाई- भाभी ,भतीजी और भतीजा सब सो रहे थेउसी दौरान उसने उन सब को आग के हवाले कर दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच प्रक्रिया शुरू कर दी है।
आग लगने के बाद भाई ओंकार विश्वकर्मा, भाभी कस्तूरिया, 17 साल की भतीजी और एक 5 साल का भतीजा बुरी तरह झूलस गए जिसमें से 3 की मौके पर मौत हो गई और एक की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिसे जैतहरी से अनूपपुर और फिर शहडोल रेफर कर दिया गया है।