/

जन्माष्टमी, गणेश उत्सव और नवरात्रि में इस तरह की मूर्तियों पर पाबंदी

भोपाल। शहर सहित आस पास क्षेत्र में कृष्ण जी, दुर्गा जी और गणेश जी की प्रतिमाओं को बनाने का काम प्रारंभ हो गया है, मूर्तिका प्रतिमाओं को स्वरूप दे रहे हैं। वहीं अब सरकार ने प्लास्टर ऑफ़ पेरिस से निर्मित मूर्तियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए सख्त निर्देश जारी किया है। जी हां अगर आप मूर्ति लेने जाते हैं तो ध्यान रखें कि मिट्टी से बनी मूर्ति ही खरीदें।

आपको बतादें कि एनजीटी ने तालाबों और छोटे जलाशयों में प्लास्टर ऑफ पेरिस से बढ़ते प्रदूषण के बाद पीओपी की मूर्तियों पर रोक लगा दी है। मूर्तियों के साइज के संबंध में भी आदमकद तक (करीब छह फीट ) तक बनाने के आदेश दिए थे। लेकिन जिले में कई मूर्तिकार मूर्तियों को मजबूती और उन्हें खूबसूरत बनाने के लिए प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनाते थे। अब शुक्रवार से एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में इसकी जांच भी शुरू करेंगे।

पीओपी की मूर्तियों को लेकर करीब चार साल पहले भी रोक लगाई गई थी

इसी के साथ भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियों पर प्रतिबंध लगाते हुए धारा-144 में आदेश जारी कर दिया है। आगामी गणेश उत्सव और दुर्गा उत्सव पर तैयार की जा रही मूर्तियों को मिट्टी से बनाया जाएगा। अगर कोई मूर्तिकार या अन्य इस आदेश का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बतादें कि पीओपी की मूर्तियों को लेकर करीब चार साल पहले भी रोक लगाई गई थी। उस समय कई मूर्तिकारों ने मिट्टी से मूर्ति बनाने का प्रशीक्षण देने की मांग की थी। कुछ मूर्तिकारों ने मूर्ती को मजबूती प्रदान कराने के लिए मिट्टी बाहर से मंगाने के लिए भी तत्कालीन अधिकारियों से मांग की थी। लेकिन इसके बाद कुछ नहीं हुआ। अब इस आदेश के जारी होने के बाद एक बार फिर से ये मांग उठ सकती है।