///

कोरोना प्रोटोकॉल को ताक में रखकर बच्चों के ली परीक्षा, प्रशासन ने कही ये बात

कोरोना प्रोटोकॉल की अवहेलना कर परीक्षा ली गई।

बुरहानपुर। बुरहानपुर की नेहरू मॉन्टेसरी स्कूल में जिला प्रशासन शिक्षा विभाग की बिना अनुमति के स्कूल में प्रवेश परीक्षा का आयोजित करने का मामले सामने आया है। जिसमे कई छोटे बच्चे और उनके माता पिता स्कूल पहुंचे थे।

कोरोना गाइडलाइन्स की हुई अवहेलना

बुरहानपुर में महामारी के दौर में शिक्षा के मंदिर में मौत को दावत दी जा रही है। देश विदेश के वैज्ञानिक और डॉक्टर्स यह दवा कर चुके है कि तीसरी लहर की आशंका है, इसे नकारा नहीं जा सकता और तो और सबसे अधिक खतरा बच्चों को है। लेकिन बावजूद इसके शिक्षा के नाम पर पैसे ऐठने वालों को कोई फर्क नहीं पड़ता। दरअसल नए सत्र के लिए छात्रों को प्रवेश देने के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजित की गई थी। जिसमे कोरोना गाइडलाइन्स की धज्जियाँ उड़ाई गई। इस दौरान स्कूल में कई छोटे बच्चों और उनके माता पिता मौजूद थे। इस मामले पर स्कूल प्रबंधन का तर्क है कि नया शिक्षा सत्र शुरू होने वाला है सीट्स कम है प्रवेश लेने वाले बच्चे अधिक है लिहाजा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई जब मीडिया स्कूल प्रबंधन से पूछा क्या इसके लिए उन्होने जिला प्रशासन से कोई अनुमति ली है तो इसका उनके पास कोई जवाब नहीं मिला।

प्रशासन ने की कार्रवाई की बात

मामले की जानकारी एडीएम शैलेंद्र सिंह सोलंकी को दी गई तो उन्होने तुरंत जिला शिक्षा अधिकारी को नेहरू मॉन्टेसरी स्कूल में जांच के लिए भेजा जिला शिक्षा अधिकारी की जांच रिपोर्ट के बाद प्रशासन कारवाई करने की बात कह रहा है। महामारी के दौर में जब स्कूल कॉलेज बंद है तो कोई स्कूल कैसे कोई परीक्षा आयोजित करवा सकता है। बहरहाल अब देखने वाली होगी कि स्कूल प्रबंधन पर क्या करवाई की जाती है।