/

किसान नेता कल दिल्ली बॉर्डर पर अनशन करेंगे

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज यानी रविवार को 18वां दिन है। किसान नेताओं ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने ऐलान किया कि सोमवार को दिल्ली बॉर्डर पर सभी किसान नेता सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक अनशन करेंगे। इसके अलावा सभी डिस्ट्रिक्ट हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन किया जाएगा।

इसके अलावा आंदोलन से अवांछित तत्वों को दूर रखने के लिए भी निगरानी की जाएगी। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि आज गाजियाबाद बॉर्डर पर कुछ गलत एलीमेेंट पोस्टर लेकर आंदोलन में शामिल हुए थे, उन्हें हम लोगों ने हटाया और आगे भी हम लोगों को ऐसे लोगों पर नजर रखनी है।

शाह और तोमर की बैठक हुई
इस बीच, किसानों के दिल्ली मार्च के मद्देनजर जयसिंहपुर-खेड़ा (राजस्थान-हरियाणा) बॉर्डर पर सिक्युरिटी बढ़ा दी गई है। सुबह से ही किसान यहां इकट्ठा हो रहे थे और दिल्ली कूच की तैयारियों में जुटे थे। किसानों के ऐलान के मद्देनजर आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और कृषि राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर मीटिंग की।

पंजाब के DIG का इस्तीफा
किसानों के समर्थन में पंजाब के DIG (जेल) लखमिंदर सिंह जाखड़ ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। ADGP (जेल) पीके सिन्हा ने इस्तीफे की कॉपी मिलने की पुष्टि की है। लखमिंदर ने लिखा कि प्रदेश के किसान परेशान हैं। ठंड में खुले आसमान के नीचे सड़कों पर बैठे हैं। मैं खुद एक किसान का बेटा हूं, इसलिए इस आंदोलन का हिस्सा बनना चाहता हूं। तुरंत प्रभाव से पदमुक्त करें, ताकि दिल्ली जाकर अपने किसान भाइयों के साथ मिलकर अपने हक के लिए लड़ सकूं।

उधर, किसान कानून वापसी के अलावा किसी भी तरह के संशोधन के लिए तैयार नहीं हैं। इसी को लेकर किसान आज दिल्ली-जयपुर हाईवे बंद कर सकते हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी, तो वे सोमवार को भूख हड़ताल करेंगे।