/

उमा भारती ने दिखाए बगावती तेवर, शराबबंदी अभियान का किया ऐलान

उमा भारती ने अभियान का जिम्मा गंगा भारती को सौंपा है।

Start

भोपाल. नई शराब नीति की तैयारियों में जुटी प्रदेश की शिवराज सरकार को उनकी ही पार्टी के वरिष्ट नेता उमा भारती ने एक बार फिर घेरा है. उन्होंने 8 मार्च से प्रदेश में शराबबंदी अभियान छेड़ने का ऐलान किया है. उमा के पार्टी लाइन के विपरीत उठ रहे कदमों ने पार्टी और सरकार दोनों को चिंता को बढ़ा दिया है. उमा ने ट्वीट कर शराबबंदी के लिए अभियान चलाने का ऐलान करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश की बेटी खुशबू इसकी योजना रही है, इस संबंध में जानकारी अगले पांच दिन में पता चल जाएगी.

सरकार बना रही है शराब नीति

गौरतलब है प्रदेश सरकार साल 2021-22 के लिए नई शराब नीति की तैयारी कर रही है. पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने सोशल मीडिया पर लिखा है, ‘शराब और नशा मुक्ति अभियान के लिए मुझे सहयोगी मिल गई है. खुशबू नाम की यह युवती मध्यप्रदेश की रहने वाली है । वह उत्तराखंड़ में मेरे गंगा प्रवास में शामिल होने के लिए आई थीं.उसके निष्ठा एवं साहस से उसका नाम गंगा भारती हो गया था. मैंने गंगा को 8 मार्च 2021 को महिला दिवस के अवसर पर शराब और नशामुक्ति अभियान प्रारम्भ करने की तैयारी करने के लिए कहा है. आगे का विवरण वह आप सबको बताएंगी.’

शराब है समाज के लिए कलंक

उमा भारती ने बढ़ते दुष्कर्म के लिए नशे को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि इसलिए नशा और शराबबंदी होनी चाहिए. इस तरह का फैसला लेने के लिए राजनैतिक साहस की जरूरत होती है. शराबबंदी कहीं से भी घाटे का सौदा नहीं है शराब बंदी से राजस्व को हुई क्षति को कहीं से भी पूरा किया जा सकता है किंतु शराब के नशे में बलात्कार, हत्याएं, दुर्घटनाएं छोटी बालिकाओं के साथ दुष्कर्म जैसी घटनाएं भयावह हैं तथा देश एवं समाज के लिए कलंक है।