////

अशोकनगर के अभिषेक इस शौक की वजह से कर चुके हैं हजारों किलोमीटर का बाइक से सफर

Start

अशोकनगर। शहर के एक युवा को प्रकृति से बेहद लगाव है। लगाव ऐसा कि प्रकृति को करीब से देखने की चाहत में वह अब तक हजारों किमी की यात्रा बाइक से कर चुके हैं। महिला बाल विकास विभाग में कार्यरत अभिषेक बुधौलिया हाल ही में पंद्रह दिनों के सफर के बाद घर लौटे हैं।

देश को देख चुके हैं नजदीक से

इस यात्रा में अभिषेक बुधौलिया अपनी सबसे खास बाइक से कुल्लू, मनाली, लेह, लद्दाख, कारगिल और श्रीनगर का सफर किया है। अभिषेक बताते हैं कि मुझे बचपन से ही अल्हड़ नदियां, आसमान छूते पेड़, बर्फ से ढंके पहाड़, प्राकृतिक वातावरण में अठखेलियां करते जीव-जंतुओं से लगाव है और मैं हमेशा से इन्हें बहुत नजदीक से देखना, जानना, महसूस करना चाहता था। इसी कारण मुझे ट्रेवलिंग का शौक लग गया। वैसे अभिषेक के सैलानी बनने का एक बड़ा कारण यह भी है कि है अभिषेक छात्र जीवन में स्काउट गाइड रहे और इस दौरान उन्होंने कई यादगार ट्रैकिंग कीं।

दुर्ग स्थानों का कर चुके हैं भ्रमण

इनमें सबसे विशेष है चीन सीमा से लगे ग्लेश्यिर सुदंर डूंगा की। यह ग्लेश्यिर काफी ऊंचाई पर है, इतनी ऊंचाई पर कि यहां खच्चर भी नहीं जाते हंै। इसके अलावा अभिषेक ने स्काउट में रहने के दौरान पिंडारी ग्लेशियर, ऊंटी, उत्तरकाशी से गंगोत्री तक ट्रैकिंग की है। इस दौरान प्रतिदिन बीस किलोमीटर की पैदल यात्रा की। अभिषेक बाइक से इसके पहले केदारनाथ और दो बार पचमढ़ी की यात्रा भी कर चुके हैं।

वैसे इस मनमौजी और प्रकृति प्रेमी सैलानी के साथ एक खास बात यह भी है कि वह ज्यादातर अकेले ही सफर करते हैं। इसके पीछे वह बताते हैं कि इससे प्रकृति का सान्निध्य बेहतर ढंग से मिल पाता है। हालांकि बाइक से जाने के कारण ही उन्हें हमसफर नहीं मिल पाते हैं क्योंकि दोस्तों के परिजन बाइक से जाने की बात सुनते ही मना कर देते हैं। इसके अलावा बाइक से रुपए भी ज्यादा लगते हैं। अभिषेक फिलहाल अगली यात्रा की तैयारी कर रहे हैं। वे बताते है कि श्रीखंड महादेव की यात्रा पर मैं जल्दी ही जाऊंगा।